Hindi stories for kids with moral गधे की सोच | Hindi kahaniya

By | May 26, 2019

Hindi stories for kids with moral गधे की सोच

Hindi stories for kids with moral

Hindi stories for kids with moral गधे की सोच | Hindi kahaniya

Hindi stories for kids with moral – एक गांव में एक धोबी रहा करता था वह अपना जीवन यापन दूसरों के कपड़ों को धो करके किया करता था उसके पास एक गधा था जो उसके कपड़े को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने के काम आया करता था उस धोबी का एक लड़का था जो कि सारा दिन घूमता रहता था और कोई भी काम नहीं करता था जिससे धोबी बहुत ही परेशान रहा करता था

एक दिन धोबी अपने लड़के को बुलाया और बोला कि अगर तुम ऐसे ही घूमते रहे तो 1 दिन में इस गधे को अपनी सारी प्रॉपर्टी लिख दूंगा और अपने घर का मालिक बना दूंगा उसकी इस बात को सुनकर गधा बहुत खुश हुआ और पहले से ज्यादा अच्छे से कार्य करने लगा

एक दिन धोबी कपड़ा धोने के बाद तालाब से कपड़े लेकर आ रहा था उसके साथ उसका गधा भी था रास्ते में उसने एक गधी को देखा गधा मन ही मन सोचने लगा कि जिस दिन मालिक मुझे अपनी सारी प्रॉपर्टी देकर मुझे घर का मालिक बना देंगे उस दिन मैं इस गधी से शादी करके अपना घर बसा लूंगा और अच्छे से जीवन यापन करूंगा तभी गधे का पैर फिसल गया और उसकी पीठ से कपड़े की पोटली कीचड़ में गिर गया धोबी बहुत गुस्सा हुआ और डंडे उठाकर उसे खूब पीटा

उसकी इस पिटाई को धोबी का कुत्ता देख रहा था जब घर गए तो कुत्ते ने गधे को अकेला देखकर उसके पास गया और उससे कहा कि तुम क्यों नहीं इस घर को छोड़कर चले जाते हो तुम्हारी इतनी पिटाई होती है फिर भी तुम पता नहीं क्यों यहां पर पड़े रहते हो फिर गधे ने सारी बात बताई कि मालिक ने एक दिन कहा था कि वह मुझे अपने घर का मालिक बनाएंगे और पूरी प्रॉपर्टी मेरे नाम कर देंगे इसलिए मैं इनके लात जूते खा करके भी यहां पर पड़ा हुआ हूं उसकी इस बात को सुनकर कुत्ते ने बोला आखिर गधा गधा ही होता है

इसलिए कहते हैं कि अगर कोई गुस्से में कुछ कह दे तो उसे लेकर सपने नहीं देखना चाहिए क्योंकि वह कभी भी टूट सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *